WELCOME TO BARANWAL DIRECTORY.

अपना जीवन परिचय एवं संघर्ष, प्रेरणादायक घटना, कहानी, कविता, चुटकुला, कार्यक्रम एवं आपके अपने विचार

कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय, काकोरी, लखनऊ में

कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय, काकोरी, लखनऊ में 
बालिकाओं के लिए विशेष तीन दिवसीय निःशुल्क योग शिविर,का आयोजन किया गया

लखनऊ 03 अप्रेल 2015 :: श्रीमती वंदना बरनवाल, अध्यक्षा एवं योगशिक्षीका महिला पतंजलि योग समिति-लखनऊ पश्चिम द्वारा " कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय " काकोरी, लखनऊ में बालिकाओं के लिए विशेष तीन दिवसीय (3 अप्रेल 2015 से 5 अप्रेल, 2015 तक) निःशुल्क योग शिविर, के आयोजन का शुभारम्भ, आज किया गया I शिविर के माध्यम से बालिकाओं को आज पहले दिन प्राणायाम, आसान, मुद्राओं की जानकारी के साथ सूर्य नमस्कार तथा यौगिक जागिंग का प्रशिक्षण श्रीमती वंदना बरनवालके द्वारा दिया गया साथ ही यह भी बताया कि माननीय प्रधानमंत्री के प्रयास से संयुक्त राष्ट्र संघ ने 21 जून को " विश्व योग दिवस " मनाने की घोषणा की है।

शेष दो दिनों में मानसिक, शारीरिक, बौद्धिक और आत्मिक विकास करने के लिए प्राणायाम, आसन, सूर्य नमस्कार, एक्यूप्रेशर प्वाइंट और घरेलु उपचार की सम्पूर्ण जानकारी भी श्रीमती वंदना बरनवाल द्वारा दी जाएगी I

श्रीमती वंदना बरनवाल ने बताया कि परम पूज्य योग ऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज ने देश व दुनिया के लगभग 20 करोड़ लोगों को प्रत्यक्ष रूप से योग सिखाकर तथा मीडिया के माध्यम से घर – घर तक योग को पहुंचाकर वर्तमान युग में योग को पुनः प्रतिष्ठा दिलाई I योग को कंदराओं एवं महलों से बाहर निकाला तथा माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने विश्व पटल पर इसे रख कर अंतर्राष्ट्रीय मान्यता दिलाई !

उन्होंने बताया कि दो दशक पहले पूज्य स्वामी जी महाराज ने श्रधेय आचार्य बालकृष्ण जी के साथ मिलकर योग-आयुर्वेद, स्वदेशी एवं ऋषि ज्ञान परम्परा को आगे बढ़ाने के लिए देवभूमि हरिद्वार से यह अनुष्ठान शुरू किया था I आज देश के 600 जिलों, 5000 से अधिक तहसीलों एवं लाखों गावों में योग की निःशुल्क कक्षाओं के माध्यम से देश के करोड़ों लोगों की सेवा चल रही है I योग से आप भी तनाव, बीमारी-बुराइयों से मुक्त होकर स्वास्थ्य एवं शान्ति पाइए एवं अपना दिव्य जीवन बनाइये I

उन्होंने कहा कि स्वामी जी का आवाहन है कि हम सभी बच्चों, जवानों एवं बुजुर्गों, वरिष्ठ नागरिक योग को अपनाएं खुद योग करें तथा औरों से कराएँ I योग से अपने सुप्त शक्ति, प्रज्ञा एवं प्रतिभा, पुरुषार्थ को जगाएं I महर्षि पतंजलि आदि ऋषियों के योग को जन – जन तक पहुंचाएं I प्रतिदिन पूज्य स्वामी जी से सीधा योग सीखने के लिए प्रातः आस्था एवं सायं 9 बजे संस्कार चैनेल देखें एवं अन्य को देखने के लिए प्रेरित करें. I योग – आयुर्वेद, स्वदेशी एवं ऋषि संस्कृति का प्रचार करें एवं कराएँ. I

उक्त अवसर पर विद्यालय की अध्यापिकाओं के साथ महिला पतंजलि योग समिति-लखनऊ पश्चिम की प्रमुख रूप से श्रीमती सुषमा श्रीवास्तवा, शैल सचान, माधुरी सिंह, रामवती शर्मा, अंजलि यादव, शशि सिंह यादव, कल्पना पंडिता, पद्ममोहन, सुमन शुक्ल लता उपाध्याय तथा चन्द्रकला उपस्थित थीं I