WELCOME TO BARANWAL DIRECTORY.

अपना जीवन परिचय एवं संघर्ष, प्रेरणादायक घटना, कहानी, कविता, चुटकुला, कार्यक्रम एवं आपके अपने विचार

हमारे बच्चे और उनकी शिक्षा

हरि ॐ

      हमारा आज का समाज, और उसकी शिक्षा कैसी है यह बताने की बात नहीं है। सबसे ज्यादा संस्कारो को पालन करने वाला यदि कोई जाती है जो नम्रता , सहृदयता,सेवा और परोपकार जैसे मानवीय गुणों को अक्षरशः पालन करे तो वह बरनवाल है। परन्तु वर्तमान में मुंशीगीरी निर्माण की ईसाई परस्त शिक्षा हमारे बच्चो के में मस्तिष्क पर बुरा दुष्प्रभाव डाल रही है उन्हें समाज के उचित मान्यताओं से दूर कर रही है। इस हेतु यह आवश्यक है कि हम अपने बच्चो को संस्कार की शिक्षा अवश्य दे। इसके लिए हमें आरएसएस द्वारा संचालित विद्या मंदिर अचार्यकुलम , गुरुकुल जैसे शिक्षा संस्थानों से बच्चो का नाता जोड़ना होगा। 

 कहते है वर्षा ना हो तो फसलें खराब हो जाती है और संस्कार ना हो तो नस्ले खराब हो जाती हैं।